फरीदकोट: बहरीन में एक निजी कं पनी में काम करते 400 से अधिक भारतीय इन दिनों वहां फंसे हुए हैं, इनमें 50 के करीब पंजाबी भी शामिल हैं। इस स्थिति के चलते 3 व्यक्तियों की मौत हो चुकी है मगर उनकी वहां कोई सुनवाई नहीं कर रहा।

इन 400 भारतीयों में पंजाब के अलावा बिहार, यू.पी., केरल सहित अन्य राज्यों से मजदूरी करने के लिए नौजवान आ रहे हैं व पंजाब के जालंधर, अमृतसर, पटियाला व अन्य जिलों से संबंधित नौजवान शामिल हैं।


जालंधर जिले से संबंधित प्रेम कुमार ने बहरीन से फोन द्वारा हमारे प्रतिनिधि को वीडियो व तस्वीरें भेजकर अपने असल हालात की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि गत 5 महीनों से उन्हें न तो काम का निश्चित किया वेतन दिया जा रहा है व न ही बार-बार अनुरोध करने पर किसी को वापस भारत भेजा जा रहा है। उनकी न तो बहरीन स्थित भारतीय दूतावास सुनवाई कर रहा है व न ही वहां की पुलिस कोई सुनवाई कर रही है।


प्रेम कुमार ने कहा कि इन भारतीयों को बिना कारण लगातार पीटा जाता है व कई-कई दिन भूखे रखकर लगातार काम करवाया जाता है। काम बदले बनती राशि में से भी बहुत थोड़े पैसे दिए जाते हैं, जबकि बाकी की राशि वहां की कंपनी वाले व अन्य मिलकर खा रहे हैं।


प्रेम कुमार के अनुसार उसने व उसके दर्जनों बाकी साथियों ने कमाई करने के लिए 22 महीने पहले पंजाब व अपना परिवार छोड़ा था व तब से यहां काम कर रहे हैं मगर नवम्बर 2016 में कंपनी ने उन्हें काम से जवाब दे दिया।  उनके पासपोर्ट पहले ही कंपनी ने अपने पास रखे हुए हैं व उन्हें बार-बार मांगने  पर  दिए  नहीं  जा रहे, जिस कारण उन्हें लगातार मारपीट व परेशानी झेलनी पड़ रही है। उन्होंने भारत सरकार व विदेश मंत्रालय से मांग की कि उन्हें यहां से तुरंत निकाला जाए।

Exclusive Videos

Rajmangal Times

Editorial Office:
258, Metro Apartments,
Near Balaswa Crossing
Jahangirpuri Metro Station,
Delhi-110033

Phone: 9810234094, 01127633258
email: editor@rajmangal.com

Go to top